Uncategorized

इंदौर में कारतूस बनाने का गुजरात कनेक्शन:पिता कबाड़ लेकर भेजता था कच्चा माल, बेटा बनाता देता कारतूस…

  • October 3, 2022
  • 1 min read
  • 94 Views
[addtoany]
इंदौर में कारतूस बनाने का गुजरात कनेक्शन:पिता कबाड़ लेकर भेजता था कच्चा माल, बेटा बनाता देता कारतूस…

इंदौर क्राइम ब्रांच ने जिस सिकलीगर से दो सौ जिंदा कारतूस बरामद किए हैं, उसने पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा किया है। सिकलीगर ने बताया कि उसे कारतूस बनाने का सामान (कच्चा माल) गुजरात से भेजता था। क्राइम ब्रांच अब पिता काे पकड़ने के लिए गुजरात रवाना हो गई है।

असिस्टेंट पुलिस कमिश्नर राजेश हिंगणकर की टीम ने पलसूद में रहने वाले गुरुदयाल को पकड़ा है। आरोपी इंदौर में कारतूस की डिलीवरी देने आया था। गुरुदयाल ने बताया कि वह ऑर्डर पर माल सप्लाय करता था। क्राइम ब्रांच को इसकी सूचना मिली कि गुरुदयाल शनिवार को कारतूस की डिलीवरी करने वाला है। यह सूचना मिलते ही पुलिस एक्टिव हुई और उसे पकड़ने के लिए जाल बिछाया। पुलिस ने अपने मुखबिर को कस्टमर बनाकर गुरुदयाल को फोन लगाया। उसके साथ सौदा होने के बाद एक जगह मिलना तय किया। जैसे ही गुरुदयाल मुखबिर की बताई जगह पर पहुंचा तो क्राइम ब्रांच ने उसे पकड़ लिया।

पिता बडौदा में कबाड़ से ढूंढकर भेजता था कच्चा मटेरियल

पूछताछ में क्राइम ब्रांच को जानकारी मिली है कि गुरुदयाल का पिता भी सिकलीगर था। वह अभी बड़ौदा में अपना डेरा जमाए हुए है। गुरुदयाल ने बताया कि वहां से सामान आने पर वह अपने घर के पीछे बनी कच्ची फैक्ट्री में इसे तैयार करता था। जिसके बाद ऑर्डर पर माल का सप्लाय कर देता था। वह एक कारतूस को 100 से 250 रुपए में बेचता था।

पहले भी पकड़े जा चुके हैं सिकलीगर, इनसे पकड़ी थी बड़ी खेप

क्राइम ब्रांच ने अगस्त 2022 में सिकलीगर हरपाल सिंह चावला, इम्मू उर्फ इमरान,जफर खान, सिमरन पंवार और चंदन निवासी होशंगाबाद को पकड़ा था। आरोपियों के पास से करीब 23 अवैध कट्‌टे और पिस्टल व 10 के लगभग कारतूस पकड़ाए थे। वहीं अफजल उर्फ गोलू शेख की गैंग को पकड़कर उनसे 6 पिस्टल कट्‌टे और इतने ही कारतूस पकड़े थे। इसके बाद सिंतबर में राजवीर सिंह निवासी कुआखेडा को पकड़ा था। आरोपी के पास से दो देशी कट्‌टे ओर 5 जिंदा कारतूस मिलें थे। क्राइम ब्रांच ने खजराना के फैजान उर्फ गोलू को भी पकड़ा था।

पोटाश, वॉल डंडी का भी उपयोग

कुछ दिन पहले क्राइम ब्रांच ने एक आरोपी पकड़ा था जो इंदौर में ऑर्डर से पिस्टल की बैरल बनवाता था। उसने पूछताछ में बताया था कि बारूद के बदले पोटाश और ट्यूब के लगने वाली वाल डंडी का वह पिस्टल की बुलेट बनाने में इस्तेमाल करते है। क्राइम ब्रांच की अवैध कारतूस पकड़ने के मामले में इंदौर में यह इस साल दूसरी बड़ी कार्रवाई है। क्राइम ब्रांच खरगोन, बड़वानी और धामनोद वाले इलाकों में पहले ही सिकलीगरों पर नकेल कस चुका है। जिन्होंने अपने ठिकाने बदलकर काम करना शुरू किया है।

पिछले साल दिसम्बर में हुई थी बड़ी कार्रवाई

इंदौर क्राइम ब्रांच ने पंचायत चुनाव से पहले प्रदेश में अवैध हथियारों का बड़ा जखीरा पकड़ा था। पुलिस ने सिकलीगरों से 55 देशी कट्टे व पिस्टल के साथ ही 11 जिंदा कारतूस जब्त किए थे। खरगोन व देवास से तीन तस्करों को भी गिरफ्तार किया था। इनके कब्जे से 10 देशी पिस्टल, 04 नग देशी कट्टे एवं 04 जिन्दा कारतूस बरामद हुए थे।

उत्तर प्रदेश: उर्दू को बढ़ावा देने वाले अधिकारी पर कुल्हाड़ी मारी स्वास्थ्य विभाग के निदेशक का कहना है कि तबस्सुम खान को ‘कर्तव्य में लापरवाही’ के लिए निलंबित कर दिया गया है

Read More…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *