Uncategorized

अमेरिकी जांच एजेंसी FBI ने मांगा इंदौर के साइबर ठग का रिकॉर्ड, कॉल सेंटर से करते थे धोखाधड़ी

  • March 3, 2022
  • 0 min read
  • 41 Views
[addtoany]
अमेरिकी जांच एजेंसी FBI ने मांगा इंदौर के साइबर ठग का रिकॉर्ड, कॉल सेंटर से करते थे धोखाधड़ी

करीब डेढ़ साल पहले इंटरनेशनल कॉल के जरिये अमेरिकी नागरिकों से करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया था. अब इस मामले में अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई ने पूरे मामले की जांच पड़ताल शुरू की थी.

इंदौरः करीब डेढ़ साल पहले इंटरनेशनल कॉल के जरिये अमेरिकी नागरिकों से करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया था. जिसमें विजय नगर थाना और लसूड़िया थाना की पुलिस ने 23 आरोपियों पर कार्यवाही की थी. अब इस मामले में अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई ने पूरे मामले की जांच पड़ताल शुरू की थी. एफबीआई के अधिकारियों ने जांच पड़ताल के दौरान इंदौर क्राइम ब्रांच के डीसीपी निमिश अग्रवाल से फोन पर करीब 25 मिनट बात की और फर्जी कॉल सेंटर की जानकारी ली है.

आरोपियों द्वारा इंदौर में कॉल सेंटर के जरिए खुद को अमेरिका के सोशल सिक्योरिटी गार्ड विभाग का अफसर बताते हुए ड्रग्स ट्रैफिकिंग, मनी लॉन्ड्रिंग, एंटी नेशनल एक्टिविटी केस हाथ में होने के नाम पर पैसा वसूली करते थें. आरोपी प्रतिदिन 10 लाख रूपए की धोखाधड़ी आसानी से कर लेते थे. इस मामले में 100 से अधिक अमेरिकी नागरिकों ने धोखाधड़ी की शिकायत एम्बेसी में दर्ज करवाई थी. जिसके बाद पुलिस ने धोखाधड़ी के मामले में 23 लोगों को गिरफ्तार किया था. 

इस मामले में करन नाम का एक आरोपी अब भी फरार है. वहीं कॉल सेंटर मैनेजर जे फ्रांसीसी की सजा के दौरान कोविड बीमारी से अस्पताल में मौत हो चुकी है. आईटी हेड जयराज सहित कॉल सेंटर के 19 कर्मचारियों को जमानत मिल चुकी है. डेढ़ साल पहले जब आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था तो, उनके पास से 10 लाख अमेरिकी नागरिकों का डाटा मिला था. अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई ने इंदौर क्राइम ब्रांच डीसीपी से फोन पर बातचीत के दौरान बताया कि आरोपियों से वीडियो कॉफेंसिंग के जरिए पूछताछ की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.