Sports

क्रिकेटर वेंकटेश अय्यर को लगी करियर की सबसे गंभीर चोट:दाएं पैर में चढ़ाया प्लास्टर, जानिए अब कब मैदान में लौटेंगे…

  • October 21, 2022
  • 1 min read
  • 54 Views
[addtoany]
क्रिकेटर वेंकटेश अय्यर को लगी करियर की सबसे गंभीर चोट:दाएं पैर में चढ़ाया प्लास्टर, जानिए अब कब मैदान में लौटेंगे…

टीम इंडिया के क्रिकेटर इंदौर के ऑलराउंडर वेंकटेश अय्यर सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2022 में बचे हुए मैच नहीं खेल पाएंगे। बेहतरीन फॉर्म में चल रहे अय्यर सीरीज में मध्यप्रदेश की ओर उतरे थे। उन्होंने अपनी बाएं पैर टखने में फ्रेक्चर आने की पोस्ट सोशल मीडिया पर शेयर की है। अय्यर ने बताया इसके चलते वे टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं।

सीजन के पहले मैच में वेंकटेश ने 20 रन देकर छह विकेट लिए थे। साथ ही 62 रनों की नॉटआउट पारी भी खेली। इस सीजन में अपना आखिरी मैच उन्होंने 16 अक्टूबर को रेलवे के खिलाफ खेला था। चोट लगने के बाद वेंकटेश अय्यर से दैनिक भास्कर ने खास बातचीत की। उन्होंने उम्मीद जताई है कि वे ढाई से तीन महीने में वापस क्रिकेट के मैदान में नजर आएंगे।

सर, कैसे चोट लगी कब की घटना ही?
एंकल ट्वीस्ट हो गया था मेरा। चलता है ये पार्ट ऑफ द गेम है। पर इस बार थोड़ा सा मैजर हो गया है। इंज्यूरी पार्ट आफ कॅरियर है। देखते हैं इसमें से बाहर कैसे और कब तक निकलते हैं।

इससे पहले भी आपको कभी चोट लगी है क्या?
इंज्यूरी तो एक प्रोफेशनल क्रिकेटर की लाइफ में होती रहती है। मुझे काफी इंज्यूरी हुई है, लेकिन ऐसी मेजर इंज्यूरी पहली बार हुई है। हर फेज से कुछ न कुछ सीखने को मिलेगा। मैं देखता हूं कि इंज्यूरी से क्या सीख सकूं।

इंज्यूरी से कब तक उबर पाएंगे?
उम्मीद है कि ढाई से तीन महीने के बाद मैं वापस क्रिकेट खेलते हुए नजर आ सकता हूं। फिलहाल डॉक्टर्स ने मुझे आराम करने के लिए कहा है।

मुश्ताक अली ट्राफी के शेष मैच से आप बाहर हो गए हैं। ट्रॉफी को कितना महत्वपूर्ण मानते हैं आप?

कोई भी डोमेस्टिक टूर्नामेंट बहुत इंर्पोटेंट होता है। मेरे लिए यह टूर्नामेंट बहुत इंर्पोटेंट था। मैं चाह रहा था अपने दम पर टीम को जिताऊं और ट्रॉफी दिलाऊं। यै मैंने पर्सनल गोल बनाया था। अच्छा हो रहा था, मैं ये फील कर रहा था कि मैं टीम के लिए बैटिंग-बॉलिंग दोनों में अच्छा कंट्रीब्यूट कर रहा हूं। बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि मैं ट्रर्नामेंट अब कंटीन्यू नहीं कर सकता। शायद आने वाले कुछ टूर्नामेंट खेल नहीं पाउंगा।

टी 20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की क्या ताकत देखते हैं आप ?

टीम इंडिया की बैटिंग, बॉलिंग और फिल्डिंग तीनों बहुत ताकतवर है। टीम इंडिया सबसे बैलेंस टीम लगती है मुझे। बतौर क्रिकेटर ही नहीं एक प्रशंसक के रूम में मैं उम्मीद करता हूं कि हम बहुत अच्छा प्रदर्शन करेंगे।आईपीएल का पहला सीजन आपका धमाकेदार रहा लेकिन बाद में परफॉर्मेंस ठीक नहीं रहा प्रशंसकों की उम्मीदें ज्यादा रही थी क्या?
प्रशंसकों की उम्मीद का मेरे ऊपर कोई असर नहीं होता है। हां कुछ गलतियां हुईं और मुझे ऐसा लगता है कि मुझे और सीखते रहना है। मैं इस बारे में सोचता नहीं हूं कि मेरा परफॉर्मेंस अच्छा रहा है या बुरा। मेरा प्रोसेस कैसा रहा है, मैं इस बारे में सोचता हूं और जहां तक मेरा मानना है कि मैंने अच्छा प्रोसेस किया है। अच्छा परफॉर्मेंस आज नहीं तो कल होगा। मेरा प्रोसेस वैसा ही है।

बैटिंग और बॉलिंग में सुधार को लेकर कुछ खास प्रयास किए आपने?

बैटिंग को लेकर तो मैं रूटीन फॉलो करता ही आ रहा हूं, लेकिन फिटनेस को लेकर मैंने न्यूट्रीशियनिस्ट सूरज ठाकुरिया के साथ काफी इंप्रूव किया है। बॉलिंग को लेकर मैंने मेरे बॉलिंग कोच आनंद राजन के साथ काफी प्रैक्टिस की है। तीनों डिपार्टमेंट में टीम के लिए उपयोगी बनूं, यही मेरा टारगेट है।इस पर मेरा कोई कमेंट नहीं है। मैं सिलेक्टर के लिए कभी नहीं खेलता। मैं मेरा परफार्मेंस अच्छा करने के लिए खेलता हूं।

वैशाली ठक्कर सुसाइड केस: राहुल नवलानी से 4 दिन में सच उगलवाएगी इंदौर पुलिस, कोर्ट ने भी लगाई फटकार

Read More…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *