Uncategorized

Edible Oil Price in Indore: केएलसी रिकार्ड ऊंचाई पर, सोया तेल 1575 रुपये में बिका

  • March 2, 2022
  • 1 min read
  • 342 Views
[addtoany]
Edible Oil Price in Indore: केएलसी रिकार्ड ऊंचाई पर, सोया तेल 1575 रुपये में बिका

Edible Oil Price in Indore: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रूस-यूक्रेन युद्द के कारण भारत के खाद्य तेल आयातकों को भी अपने व्यापार का रूख बदलना पड़ेगा। देश में 90 प्रतिशत सूरजमुखी तेल यूक्रेन से आयात होता था। भारत अपनी जरूरत का 55 प्रतिशत तेल आयात करता है। 2021-2022 में तेल आयात का बिल 1.5 लाख करोड़ था। मलेशिया, इंडोनेशिया, ब्राजील, अर्जेंटीना में पाम और सोया तेल के दाम आसमान छू रहे हैं। ऐसे में अब देश के आयातक खाद्य तेल के सौदों के लिए कैनोला और राइसब्रान आइल जैसे विकल्पों पर ध्यान लगा रहे हैं। कनाडा से कैनोला जबकि थाईलैंड और वियतनाम से राइसब्रान आइल का आयात तेज हो सकता है। साथ ही बाजार में आलिव पाम का आयात भी बढ़ाया जा सकता है।

रूस-यूक्रेन युद्ध से तेल-तिलहन की सप्लाई बाधित होने से केएलसी रिकार्ड ऊंचाई पर पहुंच गया। कच्चे तेल में उछाल के साथ विदेशी बाजारों में मजबूती से भी केएलसी सपोर्ट मिला है और मंगलवार को केएलसी जहां 450 प्लस पर बंद हुई वहीं सीबीओटी 311 प्लस बोला गया। इससे घरेलू बाजारों में भी सोया तेल के दाम एकाएक 50- 75 रुपये ऊंचे बोले जाने लगे हैं। प्राइवेट में हुए कामकाज में सोयाबीन तेल इंदौर 1550-1575 और सोया साल्वेंट 1530-1535 रुपये प्रति दस किलो बोला गया।

युद्ध की स्थिति जबतक बंद नहीं होती यूक्रेन पोर्ट्स बंद रहेंगे। पोर्ट्स बंद रहने से सनफ्लावर तेल की सप्लाई ठप रहेगी। दरअसल, भारत यूक्रेन से 17 लाख, रशिया से 5 लाख टन और तीन लाख टन अफगानिस्तान से सनफ्लावर तेल खरीदी करता है। युद्ध के चलते अगले एक महीने तक सनफ्लावर तेल की आवक मुश्किल लगता है। ऐसे में भारतीय बाजारों में पाम और सोया तेल की मांग का प्रेशर बढ़ने लगेगा। मंगलवार को महाराशिवरात्रि की वजह से प्रदेश की मंडियां बंद होने से सोयाबीन की आवक नहीं के समान रही।

इसके चलते मध्यप्रदेश के प्लांट्स ने सोयाबीन खरीदी भाव 200-300 रूपये तक बढ़ा दिए। महाराष्ट्र कीर्ति प्लांट 8000 के स्तर पर फिर पहुंच गया। युद्ध की मौजूदा स्थिति में तनाव और बढ़ा तो सोयाबीन और सोया तेल को और सहारा मिलने की संभावना है। हालांकि कुछ व्यापारियों का कहना है कि अच्छी बढ़त के बाद मुनाफावसूली करके चलते रहना चाहिए क्योंकि भारतीय सरकार भी कभी कोई भी निर्णय ले सकती है। सोयाबीन डीओसी स्पाट 62000 से 66000 रुपये टन।

अवि 7900, प्रकाश 7800, बंसल 7800, बैतूल 7750, रुचि 7750, कृति 7700, प्रेस्टीज 7850, लक्ष्मी 7850, महाकाली 7900, सांवरिया 7600, इटारसी आइल्स 7800, एमएस साल्वेक्स 8000, धानुका 7950, अग्रवाल 7950, सालासर 7900, अंबिका 7900, खंडवा आइल्स 7600, अमरीत 8000, सूर्या फूड 7900, पचोर एमस 7850, धर्मपुरी रामा 7800, सिवनी आरएच सालवेक्स 7750, केपी निवाड़ी 7800 व शांति 7900 रुपये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.