मनोरंजन

प्रीमियम ट्रेनों में खाना होगा महंगा, पहले से बुक नहीं कराया तो देना होगा एक्स्ट्रा चार्ज; पढ़ें

  • July 19, 2022
  • 1 min read
  • 97 Views
[addtoany]
प्रीमियम ट्रेनों में खाना होगा महंगा, पहले से बुक नहीं कराया तो देना होगा एक्स्ट्रा चार्ज; पढ़ें

राजधानी, शताब्दी और दुरंतो जैसी प्रीमियम ट्रेनों में अगर आपने खाना पहले से बुक नहीं कराया तो इसके लिए आपको 50 रुपये ज़्यादा चुकाने पड़ेंगे. यह रकम नाश्ते से लेकर खाने और स्नैक्स पर लागू होगा.

नई दिल्ली:

भारतीय रेलवे ने प्रीमियम ट्रेनों में केटरिंग सेवा को लेकर उसकी दरों में कुछ बदलाव किए हैं. नए नियमों के मुताबिक, अब अगर आपने पहले से बुक नहीं कराया तो ट्रेनों में खाना महंगा होगा. आपको 50 रुपये अतिरिक्त सर्विस चार्ज चुकाने होंगे. हालांकि, विवाद होने के बाद ट्रेनों में चाय को छूट मिल गई है. दरअसल कुछ दिन पहले एक मुसाफिर ने चलती ट्रेन में 20 रुपये की चाय ली थी लेकिन उसे 70 रुपये चुकाने पड़े थे. इसपर रेलवे ने दलील दी थी कि मुसाफिर ने पहले से खाना बुक नहीं कराया था, इसलिए पहले ही आर्डर पर उससे 50 रुपये सर्विस चार्ज के तौर पर लिया गया था. हालांकि, रेलवे के नए आदेश में चाय को इस मामले में छूट दे दी गयी है.

लेकिन राजधानी, शताब्दी और दुरंतो जैसी प्रीमियम ट्रेनों में अगर आपने खाना पहले से बुक नहीं कराया तो इसके लिए आपको 50 रुपये ज़्यादा चुकाने पड़ेंगे. यह रकम नाश्ते से लेकर खाने और स्नैक्स पर लागू होगा.

रेलवे बोर्ड के नए आदेश के मुताबिक मुसाफिरों की जेब पर कुछ इस तरह से भार पड़ेगा-

राजधानी शताब्दी और दुरंतो जैसी ट्रेनों के एसी-1 क्लास में अगर आपने पहले से खाना बुक नहीं कराया तो नाश्ते के लिए आपको ₹140 की जगह ₹190 चुकाने होंगे, जबकि एसी2, एसी3 और चेयर कार के लिए आपको ₹105 की जगह ₹155 चुकाने होंगे. वही लंच और डिनर एसी1 के मुसाफिरों के लिए ₹245 की जगह ₹295 का होगा. जबकि एसी 2/3, एसी चेयर कार के लिए ₹150 की जगह ₹235 का होगा. चाय के साथ स्नैक्स लेने पर ₹140 की जगह ₹190 देने होंगे.

इसी तरह दुरंतो ट्रेनों के स्लीपर क्लास में अगर आप ने पहले से खाना बुक नहीं कराया है तो आपको पहले ही ऑर्डर के साथ ₹50 अतिरिक्त देने होंगे. यह रेट तेजस ट्रेनों में भी पहले की तरह लागू होगा.

केबल चोरी” के बाद दिल्ली मेट्रो की ब्लू लाइन हिट

Read More…

Leave a Reply

Your email address will not be published.