Media

इंदौर में बेजुबान की चाकू मारकर हत्या, भौंकना बना कारण, आरोपी गिरफ्तार

  • November 1, 2022
  • 1 min read
  • 35 Views
[addtoany]
इंदौर में बेजुबान की चाकू मारकर हत्या, भौंकना बना कारण, आरोपी गिरफ्तार

दोनों युवक नशे में थे और कुत्ता उन्हें देखकर भौंक रहा था। इससे नाराज एक युवक ने चाकू निकाला और कुत्ते के पीछे दौड़ा। और कुछ देर बाद उसने कुत्ते के पेट में चाकू से वार कर दिया।

मध्य प्रदेश के इंदौर में एक बार फिर बेजुबान पर हमला करने की खबर सामने आई है। शहर के बाणगंगा इलाके में दो लोगों ने एक बेजुबान की हत्या कर दी। दोनों को इलाके के लोगों ने चाकू से हमला करते देखा था। इस मामले में उन्होंने पशुओं की संस्था चलाने वाली अध्यक्ष को जानकारी दी। इस मामले में दोनों पर केस दर्ज कर जांच शुरू की है।

जानकारी के अनुसार रहवासियों ने कुत्ते के साथ हुई वारदात की जानकारी पीपुल फॉर एनिमल की संयोजक प्रियांशु जैन को दी थी। विशाल नगले और मोहित बोयत नामक युवकों ने एक काले रंग के कुत्ते को चाकू मारा। जैन अपने साथियों के साथ बस्ती में पहुंचे, लेकिन तब तक कुत्ते की मौत हो चुकी थी।

इस मामले में उन्होंने पशुओं की संस्था चलाने वाली अध्यक्ष को जानकारी दी।

वहीं प्रियांशु ने मृत कुत्ते के वीडियो फुटेज लिए। कुत्ते के पेट पर चाकू से दो वार किए गए थे। जिसके बाद बाणगंगा थाने को घटना की जानकारी दी। कुत्ते का पोस्टमार्टम होने के बाद पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम की धारा-429 के तहत मामला दर्ज किया।

इस मामले को लेकर पुलिस अधिकारी राजेन्द्र सोनी ने बताया कि वाल्मीकि नगर में बगीचे के पर एक स्ट्रीट डॉग मृत अवस्था में पड़ा था। उसके शरीर पर चाकुओं के निशान थे। इस मामले में पीपल फॉर एनिमल्स संस्था की प्रिंयाशु जैन ने बताया कि इलाके के विशाल पुत्र दिनेश नगेले और मोहित पुत्र अशोक बोयत ने डॉग की चाकू मारकर हत्या की है। बताया जाता है कि इलाके के युवकों ने विशाल और मोहित को चाकू मारते देखा था।

इस घटना के बाद से दोनों युवकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। बताया जा रहा है कि दोनों युवक नशे में थे और कुत्ता उन्हें देखकर भौंक रहा था। इससे नाराज एक युवक ने चाकू निकाला और कुत्ते के पीछे दौड़ा। और कुछ देर बाद उसने कुत्ते के पेट में चाकू से वार कर दिया

‘उदारवादियों’ ने द वायर के सह-संस्थापक सिद्धार्थ वरदराजन, वेणु और कर्मचारियों को पीड़ितों के रूप में चित्रित किया,

Read More…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *