बिज़नेस

15 से 20 प्रतिशत पैन कार्ड में आधार से अलग जानकारी, नहीं हो पा रहे लिंक

  • September 15, 2022
  • 1 min read
  • 48 Views
[addtoany]
15 से 20 प्रतिशत पैन कार्ड में आधार से अलग जानकारी, नहीं हो पा रहे लिंक

PAN Aadhaar Link: पैन कार्ड और आधार कार्ड में नाम, पिता या पति का नाम जन्म तिथि, पता आदि में एक अक्षर भी अलग – अलग होता है तो आयकर विभाग की तरफ से स्वीकृति (अप्रूवल) नहीं मिल पाती।

PAN Aadhaar Link: भोपाल (राज्य ब्यूरो)। आयकर विभाग ने अगले साल मार्च के पहले सभी पैन कार्ड धारकों को पैन कार्ड को आधार से लिंक कराने को कहा है। अभी एक हजार रुपये अर्थदंड के साथ दोनों को लिंक किया जा रहा है। मार्च के बाद पेनाल्टी बढ़ सकती है या पैन कार्ड निष्क्रिय किए जा सकते हैं।

इस डर से बड़ी संख्या में पैन कार्ड धारक दोनों को लिंक कराने के लिए कर सलाहकारों के पास पहुंच रहे हैं। भोपाल के कर सलाहकारों ने बताया कि 15 से 20 प्रतिशत मामलों में पैन कार्ड और आधार कार्ड का डाटा मिलान नहीं होने की वजह से लिंकिंग नहीं हो पाती। इसके बाद प्रमाण के लिए नए सिरे से दस्तावेज अपलोड करने पड़ते हैं। इस तरह अप्रूवल में आठ से 10 दिन लग रहे हैं।

भोपाल के कर सलाहकार (चार्टर्ड अकाउंटेंट) अभय छाज ने बताया कि पैन कार्ड और आधार कार्ड में नाम, पिता या पति का नाम जन्म तिथि, पता आदि में एक अक्षर भी अलग – अलग होता है तो आयकर विभाग की तरफ से स्वीकृति (अप्रूवल) नहीं मिल पाती। इसके बाद सत्यापन के लिए आनलाइन दस्तावेज भेजे जाते हैं। इनकी जांच के बाद स्वीकृति मिलती है। इसमें करीब आठ से 10 दिन लग रहे हैं।

एक अन्य कर सलाहकार ने बताया कि करीब तीन साल पहले दोनों को लिंक करने पर यदि डाटा मिलान हो जाता था तो दो से तीन मिनट के भीतर ही आनलाइन स्वीकृति आ जाती थी। उन्होंने यह भी बताया कि आधार और पैन लिंक नहीं होने से आयकर रिटर्न भरने में मुश्किल होती है। इसकी वजह यह कि ओटीपी आधार कार्ड से जुड़े नंबर पर ही आता है।

कई लोगों गलत तरीके से गरीबी रेखा से नीचे का कार्ड बनवाया है। वह सरकारी राशन वितरण समेत कई योजनाओं का लाभ ले रहे हैं। उन्हें लगता है कि लिंक करा दिया तो पकड़े जाएंगे। अभी तक लिंक नहीं कराने वालों में ज्यादातर इसी तरह के पैन कार्ड धारक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.