india

Madhya Pradesh: एमपी बीजेपी में बड़ा बदलाव, पांच जिलाध्यक्षों की छुट्टी… अगले 12 में किस-किस का नंबर?

  • October 7, 2022
  • 1 min read
  • 55 Views
[addtoany]
Madhya Pradesh: एमपी बीजेपी में बड़ा बदलाव, पांच जिलाध्यक्षों की छुट्टी… अगले 12 में किस-किस का नंबर?

Madhya Pradesh BJP News: एमपी बीजेपी में बड़ा बदलाव देखने को मिला है। निकाय चुनाव में हार के बाद बीजेपी ने पांच जिलाध्यक्षों को हटा दिया है। इसके साथ ही एक दर्जन के करीब लोगों पर कार्रवाई की तैयारी है। इसके बाद से संगठन में खलबली मची है।भोपाल: रातापानी जंगल में मंथन का असर दिखने लगा है। निकाय चुनावों में हार के बाद बीजेपी (big change in mp bjp) में बदलाव के कयास लगाए जा रहे थे।

रडार पर 18 जिलों के जिलाध्यक्ष हैं, जहां बीजेपी का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। इनमें से पांच जिलाध्यक्षों की छुट्टी गुरुवार की रात कर दी गई है। इसके बाद बीजेपी में खलबली मची हुई है। एक दर्जन के करीब और लोगों पर गाज गिर सकती है। जिन पांच जिलाध्यक्षों को पद से हटाया गया है, वहां बीजेपी मेयर चुनाव में हार गई थी। एक सप्ताह पहले संगठन और सरकार के टॉप लोगों ने रातपानी के जंगलों में हार पर मंथन किया था। इसमें यह संकेत मिले थे कि मिशन 2023 से पहले बीजेपी में बड़ा बदलाव होने वाला है।

बीजेपी ने भिंड, ग्वालियर, गुना, अशोकनगर और कटनी के जिलाध्यक्ष को हटा दिया है। देवेंद्र नरवरिया को भिंड, अभय चौधरी को ग्वालियर, धर्मेंद्र सिकरवार को गुना, आलोक तिवारी को अशोकनगर और दीपक सोनी को कटनी का जिलाध्यक्ष बनाया गया है। ग्वालियर और कटनी में बीजेपी महापौर चुनाव में हार गई थी। इसके बाद से ही इन जिलों में बदलाव को लेकर चर्चा शुरू हो गई थी। वहीं, गुना में बहुमत के बावजूद नगर पालिका अध्यक्ष की कुर्सी हाथ से फिसल गई है। आशोक नगर के जिलाध्यक्ष पर निकाय चुनाव में कथित रूप से टिकट बेचने का आरोप लगा था। वहीं, हटाए गए सभी जिलाध्यक्षों को प्रदेश कार्यसमिति का सदस्य बनाया गया है।

हार के बाद बीजेपी में कई बार बैठक हुई थी। इसमें हार के कारणों पर चर्चा हुई थी। सरकार और संगठन की बैठक में यह तय हो गया था कि कोई भी चूक बर्दाश्त नहीं की जाएगी। छोटी-छोटी चूक की वजह से ही 2018 में बीजेपी सत्ता में नहीं आ पाई थी। 2023 के विधानसभा चुनाव में अब एक साल का वक्त बचा है। बीजेपी पूरी तरह से चुनावी मोड में आ गई है। केंद्रीय संगठन के लोग भी लगातार एमपी में कैंप कर रहे हैं। इसके साथ ही लगातार बड़े नेताओं का एमपी दौरा भी हो रहा है।

दरअसल, पार्टी नेताओं की बैठकों के बाद यह बात सामने निकलकर आई थी कि करीब डेढ़ दर्जन जिलाध्याक्षों की छुट्टी होगी। इन जिलों में निकाय चुनाव के दौरान प्रदर्शन बेहतर नहीं रहा है। साथ ही कई कमियां देखने को मिली है। अंतर्कलह को स्थानीय स्तर पर नेता सुलझा नहीं पाए थे। इसका खामियाजा पार्टी को भुगतना पड़ा है। रीवा, मुरैना, जबलपुर और सिंगरौली जैसे नगर निगम में मेयर चुनाव पार्टी हार गई। कहा जा रहा है कि पार्टी अभी एक दर्जन से अधिक जिलाध्यक्षों पर कार्रवाई करेगी।

संगठन में भी बदलाव की चर्चा
वहीं, मिशन 2023 से पहले एमपी बीजेपी में प्रदेश स्तर पर भी बदलाव की चर्चा है। बीजेपी संगठन में बदलाव कर सकती है। कहा जा रहा है कि अभी संगठन और सरकार दोनों में कुछ परिवर्तन की संभावना है। पार्टी सूत्रों के अनुसार नवंबर तक सभी बदलाव संभावित हैं। 11 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एमपी आ रहे हैं। इसके साथ ही 16 अक्टूबर को गृह मंत्री अमित शाह भी एमपी आएंगे।

उदयनगर : पिकअप पलटी, 4 गंभीर रूप से घायल प्राप्त जानकारी के अनुसार पिकअप वाहन

Read More…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *