Politics

Mama Ka Bulldozer : एमपी में चल रहा ‘मामा का बुलडोजर’… इससे बाबा की तरह 2023 में मिलेगी जीत?

  • March 22, 2022
  • 1 min read
  • 106 Views
[addtoany]
Mama Ka Bulldozer : एमपी में चल रहा ‘मामा का बुलडोजर’… इससे बाबा की तरह 2023 में मिलेगी जीत?

Mama Ka Bulldozer In MP : बाबा का नहीं, एमपी में मामा का बुलडोजर चल रहा है। पार्टी और सरकार इसकी ब्रांडिंग में जुटी है। बीते तीन दिनों तीन जिलों में बुलडोजर चला है। बुलडोजर से आरोपियों के घर गिराए गए हैं। जानकार बताते हैं कि इसके जरिए शिवराज सिंह चौहान की नई छवि गढ़ने की कोशिश है।

भोपाल : यूपी की तर्ज पर एमपी में मामा का बुलडोजर (Mama ka bulldozer running in madhya pradesh) चल रहा है। पिछले तीन दिनों में प्रदेश के तीन जिलों में आरोपियों के घर पर बुलडोजर चले हैं। रायसेन, श्योपुर और सिवनी में कार्रवाई हुई है। आरोपियों के घरों को बुलडोजर से ध्वस्त किया गया है। इसके बाद भोपाल शहर में होर्डिंग लग गई है। बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने शहर के कई इलाकों में होर्डिंग (mama ka bulldozer poster in bhopal) लगवाए हैं। उस पर लिखा है कि बेटियों की सुरक्षा में जो भी बनेगा रोड़ा, मामा का बुलडोजर बनेगा हथौड़ा। यह तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है।

जानकार मानते हैं कि 2023 के विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सिंह चौहान की नई छवि गढ़ने की कोशिश है। यूपी में बाबा का बुसियासी जानकारों के अनुसार प्रदेश में बीते तीन दिनों में तीन बड़ी कार्रवाई हुई है। रायसेन, श्योपुर और सिवनी में आरोपियों के घर गिराए गए हैं। सभी के घरों पर बुलडोजर चला है। इसकी ब्रांडिंग खूब की गई। सरकारी तंत्र के साथ-साथ संगठन के लोगों ने भी इस कार्रवाई का प्रचार किया है। इससे यहीं कयास लगाए जा सकते हैं कि हमेशा मुस्कुराते रहने वाले शिवराज सिंह चौहान की एक नई छवि गढ़ने की कोशिश हो रही है। बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने जो पोस्टर और होर्डिंग लगवाए हैं। उसे इसी से जोड़कर देखा जाना चाहिए।

होर्डिंग लगाने वाले विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि एमपी सीएम शिवराज सिंह चौहान की मंशा साफ है। वह राज्य में किसी भी आपराधिक गतिविधि को बर्दाश्त नहीं करेंगे। एमपी में महिलाओं को पूरी सुरक्षा प्रदान करना चाहते हैं। मामा अपराधियों पर अब बुलडोजर चलवाएंगे।

शिवराज सिंह चौहान की नई छवि गढ़ने की कोशिशों को 2023 से जोड़कर देखा जा रहा है। 2023 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी का चेहरा कौन होगा ये तो साफ नहीं है। लेकिन अपराधियों के घरों पर बुलडोजर चलवाकर शिवराज सिंह चौहान को एक नए अवतार के रूप में प्रस्तुत जरूर किया जा रहा है। बीजेपी की ये कोशिश होगी कि 2023 के चुनाव में जब हम जनता के बीच जाएं, तो लॉ एंड ऑर्डर के नाम पर वोटरों को लुभा सकें।

जर काफी मशहूर हुआ था। इससे लोगों के बीच योगी आदित्यनाथ की यह छवि बनाई गई थी कि वह अपराधियों के प्रति सख्त हैं। इसका फायदा उन्हें चुनाव में हुआ। एमपी में अपराधियों पर पहले भी इस तरह की कार्रवाई होती थी। मगर कभी ब्रांडिंग नहीं होती थी। यूपी में बीजेपी को मिली जीत के बाद शिवराज सिंह चौहान को प्रदेश में इसी रूप में प्रोजेक्ट किया जा रहा है।

गौरतलब है कि शिवराज सिंह चौहान इससे पहले भी सार्वजनिक मंचों से अपराधियों और भ्रष्ट अधिकारियों के प्रति सख्त रूख अपनाते रहे हैं। कई बार उन्होंने मंचों से अपराधियों को गाड़ने की बात कही है। इसके साथ ही भ्रष्ट अधिकारियों को भी वह हड़काते रहे हैं। कई बार तो मंच से ही उन्हें निलंबित करने की घोषणा तक कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.