Politics

“मेरे सबसे अच्छे संबंध समाजवादी पार्टी के साथ हैं तो मैं..”, NDTV से बोले मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक

  • September 30, 2022
  • 1 min read
  • 56 Views
[addtoany]
“मेरे सबसे अच्छे संबंध समाजवादी पार्टी के साथ हैं तो मैं..”, NDTV से बोले मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक

NDTV से बातचीत में राज्यपाल मलिक ने आरएलडी ज्वाइन करने को लेकर कहा कि सभी लोग गलत चीजों को फैला रहे हैं. मेरा पहले दिन से कहना है कि मैं रिटायरमेंट के बाद कोई पार्टी ज्वाइन नहीं करूंगा. मैं कोई चुनाव नहीं लड़ूंगा.

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक रिटायरमेंट के बाद राष्ट्रीय लोक दल में शामिल हो सकते हैं, इस तरह की खबरें बीते कुछ दिनों से लगातार सामने आ रही हैं. साथ ही सत्यपाल मलिक के चुनाव लड़ने की बात भी की जा रही हैं. इन तमाम अटकलों को लेकर NDTV सत्यपाल मलिक से खास बातचती की.  NDTV से बातचीत में राज्यपाल मलिक ने आरएलडी ज्वाइन करने को लेकर कहा

कि सभी लोग गलत चीजों को फैला रहे हैं. मेरा पहले दिन से कहना है कि मैं रिटायरमेंट के बाद कोई पार्टी ज्वाइन नहीं करूंगा. मैं कोई चुनाव नहीं लड़ूंगा. मेरी तीन मीटिंग है अगले हफ्ते. ये मीटिंग अलीगढ़, बुलंदशहर और शामली में है. सपा और आरएलडी के साथ मंच साझा करने को लेकर मलिक ने कहा कि वह किसानों का सम्मेलन है.

मैं वहां पहले से ही आमंत्रित हूं, मेरे साथ जयंत चौधरी मंच साझा करने वाले हैं. वो ऐसा क्यों करने जा रहे हैं आपको ये बात उनसे पूछनी चाहिए. मैं किसी के झंडे के नीचे नहीं हूं. मैं बता दूं कि मुझे किसी से परहेज नहीं है. मेरा किसी पार्टी से कोई लेना देना नहीं है. लेकिन जब चुनाव होंगे तो किसी ना किसी की मदद जरूर करूंगा. मेरे सबसे अच्छे संबंध समाजवादी पार्टी के साथ हैं. सपा एक तरह से मेरी ही पार्टी है.

मेरे सबसे अच्छे संबंध समाजवादी पार्टी के साथ हैं. सपा एक तरह से मेरी ही पार्टी है.

मलिक ने कहा कि बीजेपी द्वारा किसानों के साथ किए वादे को लेकर कहा कि बीजेपी किसानों के मसले हल कर देगी तो मैं बीजेपी के लिए कहूंगा. लेकिन बीजेपी ने तो किसानों के साथ छल किया है, एमएसपी लागू नहीं कर रहे हैं, उनके मुकदमे नहीं वापस कर रहे हैं.

इस सूरत में मेरा बीजेपी से कोई संबंध नहीं रह सकता है. आज की स्थिति बताऊं तो अभी बीजेपी के साथ मेरी लड़ाई है. बीजेपी को मैंने अपने बेस्ट डेज दिए. मुझे गवर्नर बनाया दिया था इसके लिए शुक्रिया उनका. गवर्नर बनने का मतलब ये नहीं था

कि मैंने अपनी आजादी बेच दी थी. मैंने स्पष्ट कर दिया था कि किसानों के मुद्दे पर मैं एक मिनट नहीं लगाऊंगा और गवर्नरशिप छोड़ दूंगा. लेकिन मुझसे किसी ने इस्तीफा मांगा नही हैं. 

उन्होंने कहा कि मैं रियाटर होने के बाद दो काम जरूर करूंगा. पहला काम तो किसानों के लिए आवाज उठाऊंगा और दूसरा काम कश्मीर पर किताब लिखूंगा. मैं जिस पद पर हूं यहां रहते हुए मैं काफी चीजें बोल नहीं पाया हूं. मैं रियाटर होने के बाद दो काम जरूर करूंगा. 

“सचिन पायलट को राजस्थान का CM बनाना, BJP को राज्य सौंपने के बराबर…” : टीम गहलोत

Read More…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *